अभिलेखागार

इंस्टाग्राम पोस्ट से सीएसके के तुषार देशपांडे ने आरसीबी के IPL 2024 से बाहर होने पर प्रतिक्रिया दी

इंस्टाग्राम पोस्ट से सीएसके के तुषार देशपांडे ने आरसीबी के IPL 2024 से बाहर होने पर प्रतिक्रिया दी
  • 0

आरसीबी की हार पर तुषार देशपांडे की इंस्टाग्राम पोस्ट

चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) की इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2024 से बाहर होने पर एक इंस्टाग्राम पोस्ट के माध्यम से अपनी प्रतिक्रिया दी। यह पोस्ट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गई और उसने क्रिकेट फैंस के बीच काफी चर्चा का विषय बन गया।

आरसीबी, जो फाफ डू प्लेसिस की कप्तानी में खेल रही थी, प्लेऑफ में पहुंचने के लिए एक शानदार वापसी की थी। टीम ने लगातार छह मैच जीतकर प्लेऑफ में जगह बनाई थी, लेकिन उनकी यह यात्रा राजस्थान रॉयल्स के हाथों हार कर खत्म हो गई, जिसमें वे 4 विकेट से हार गए। इस हार के बाद इकलौती आईपीएल ट्रॉफी जीतने का सपना फिर से अधूरा रह गया।

तुषार देशपांडे ने इस मौके पर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट डाली, जिसमें बेंगलुरु कैंट स्टेशन की तस्वीर दिख रही थी। इस तस्वीर के साथ उन्होंने कैप्शन दिया, "सीएसके फैंस अलग ही बनावट के होते हैं," जो आरसीबी की हार पर एक तंज माना गया। हालांकि, देशपांडे ने बाद में इस पोस्ट को हटा लिया, लेकिन तब तक यह सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी थी और व्यापक रूप से साझा की जा रही थी।

इस पोस्ट के कारण क्रिकेट जगत में काफी हलचल मच गई। आरसीबी के फैंस ने इसे सीएसके समर्थकों और खासकर तुषार की ओर से एक अप्रिय टिप्पणी के रूप में देखा। वहीं सीएसके समर्थकों ने इस पोस्ट को मजाकिया अंदाज में लिया और इसे आरसीबी के प्रति एक चुटीला जवाब माना।

आरसीबी बनाम सीएसके: मुकाबले की यादें

आरसीबी बनाम सीएसके: मुकाबले की यादें

इस सीजन में आरसीबी और सीएसके के बीच खेला गया मैच खासा विवादास्पद रहा। इस मुकाबले के आखिरी ओवर में आरसीबी के खिलाड़ियों ने एमएस धोनी का विकेट गिरने पर जिस तरह का जश्न मनाया, वह चर्चा का विषय बना। इस पर पूर्व इंग्लैंड के कप्तान माइकल वॉन ने भी टिप्पणी की कि आरसीबी के खिलाड़ियों को धोनी के प्रति अधिक सम्मान और शालीनता दिखानी चाहिए थी।

ऐसे में तुषार देशपांडे की यह पोस्ट एक और तेल की आग में घी डालने जैसा काम कर गई। हालांकि, यह पोस्ट मैच के बाद के तनाव और विवाद को दर्शाती है, लेकिन साथ ही यह भी स्पष्ट करती है कि क्रिकेट केवल एक खेल नहीं, बल्कि फैंस के जुनून और उम्मीदों का भी प्रतीक है।

आरसीबी के निराशाजनक सफर का अंत

आरसीबी ने अपनी प्लेऑफ तक की यात्रा में शानदार प्रदर्शन किया था, लेकिन उनकी उम्मीदों पर राजस्थान रॉयल्स ने पानी फेर दिया। फाफ डू प्लेसिस की कप्तानी में आरसीबी ने दमदार खेल दिखाया और कुछ अद्वितीय मैच जीते, लेकिन अंततः वे ट्रॉफी से एक बार फिर दूर रह गए।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की यह हार उनके फैंस के लिए एक बड़ा झटका साबित हुई। लेकिन क्रिकेट का खेल ऐसा ही है, यहां हर मैच एक नई चुनौती के रूप में आता है और हर हार या जीत एक नए अध्याय का आरंभ होती है।

आशा करते हैं कि अगले सीजन में आरसीबी और अन्य टीमें दुगने उत्साह और ऊर्जा के साथ मैदान में उतरेंगी और हमें कुछ और यादगार मुकाबले देखने को मिलेंगे।

अंजलि सोमवांस

लेखक के बारे में

अंजलि सोमवांस

मैं एक स्वतंत्र पत्रकार हूँ जो भारत में दैनिक समाचारों के बारे में लिखती हूँ। मुझे लेखन और रिपोर्टिंग में गहरी रुचि है। मेरा उद्देश लोगों तक सटीक और महत्वपूर्ण जानकारी पहुँचाना है। मैंने कई प्रमुख समाचार पत्रों और वेबसाइट्स के लिए काम किया है।

एक टिप्पणी लिखें

अभिलेखागार