अभिलेखागार

मोदी कैबिनेट 3.0: चिराग पासवान को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय

मोदी कैबिनेट 3.0: चिराग पासवान को खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय
  • 0

चिराग पासवान के लिए यह एक महत्वपूर्ण क्षण है जब उन्हें मोदी कैबिनेट 3.0 में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय मिला है। यह न सिर्फ उनकी पार्टी के लिए बल्कि उनके व्यक्तिगत राजनीतिक सफर के लिए भी एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है। लोक जनशक्ति पार्टी (राम विलास) के प्रमुख चिराग पासवान ने 9 जून को मंत्री पद की शपथ ली और इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त किया।

पासवान ने इस मौके पर कहा, 'प्रधानमंत्री ने जो भरोसा मुझ पर और मेरी पार्टी पर दिखाया है, उसके लिए मैं उनका शुक्रगुज़ार हूँ। मैं इस जिम्मेदारी को पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ निभाऊंगा।' इस बयान से यह स्पष्ट है कि चिराग पासवान इस मौके को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं और वे अपने हाथ में आई जिम्मेदारी को निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

पार्टी का ऐतिहासिक प्रदर्शन

लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) ने 2024 के लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन किया, जहां उन्होंने सभी पांच सीटों पर जीत हासिल की। इन सीटों में हाजीपुर, समस्तीपुर, वैशाली, जमुई, और खगड़िया शामिल हैं। इस सफलता ने पार्टी को एक नई पहचान और शक्ति दी है। पासवान का यह मंत्रालय प्राप्त करना इस सफलता का प्रत्यक्ष प्रमाण है।

इस जीत ने न सिर्फ पार्टी के आधार को मजबूत किया है बल्कि भाजपा गठबंधन में उनकी भूमिका को भी महत्वपूर्ण बना दिया है। वर्तमान में, लोजपा (रामविलास) एनडीए के प्रमुख सहयोगियों में से एक है, जिसमें टीडीपी और जेडीयू शामिल हैं।

पार्टी का भविष्य विकास

पार्टी के भविष्य के बारे में बात करते हुए, चिराग पासवान ने कहा कि वे अपने पिता रामविलास पासवान के आदर्शों को आगे बढ़ाएंगे और पार्टी को नई ऊचाइयों पर पहुंचाने का प्रयास करेंगे। उनके पिता, रामविलास पासवान, भारतीय राजनीति में एक प्रमुख व्यक्तित्व थे और उन्होंने खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय सहित विभिन्न मंत्रालयों में कार्य किया था। उनके योगदान का सम्मान करते हुए, चिराग ने इस मंत्रालय को प्राप्त करने के बाद अपने पिता के आदर्शों को संजोने का संकल्प लिया है।

आर्थिक विकास और रोजगार सृजन

अपने मंत्रालय के लक्ष्य पर बात करते हुए, चिराग ने बताया कि वे खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में क्रांति लाने के लिए कटिबद्ध हैं। उनका मानना है कि इस क्षेत्र में विकास से देश में रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे और कृषि क्षेत्र को भी बढ़ावा मिलेगा। 'हम खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र को और भी अधिक संगठित और सशक्त बनाना चाहते हैं जिससे किसानों को अपने उत्पाद का सही मूल्य मिल सके,' उन्होंने कहा।

क्षेत्रीय विकास और बुनियादी सुविधाएं

क्षेत्रीय विकास और बुनियादी सुविधाएं

इसके साथ ही, चिराग ने यह भी बताया कि वे अपने मंत्रालय के माध्यम से देश के विभिन्न हिस्सों में क्षेत्रीय विकास को बढ़ावा देना चाहते हैं। उनका लक्ष्य न सिर्फ बड़े शहरों बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना करना है, जिससे ग्रामीण विकास को भी मजबूती मिलेगी। 'हमारी प्राथमिकता है कि हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में भी मजबूत बुनियादी ढांचे का विकास हो, जिससे वहाँ के युवाओं को भी रोजगार के अच्छे अवसर मिलें,' उन्होंने जोर देकर कहा।

स्वास्थ्य और स्वच्छता

स्वास्थ्य और स्वच्छता के विषय पर बात करते हुए, चिराग पासवान ने बताया कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग में स्वास्थ्य मानकों का पालन करना अत्यंत आवश्यक है। 'हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार काम करें और स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें,' उन्होंने आश्वासन दिया।

चिराग पासवान ने अपने मंत्रालय के कार्यकाल के दौरान कई योजनाओं और नीतियों को लागू करने का वादा किया है जिनसे देश के खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में एक नई ऊर्जा का संचार होगा।

नए उद्यमियों के लिए अवसर

नए उद्यमियों के लिए अवसर

इसके अलावा, उन्होंने यह भी कहा कि वे नए उद्यमियों को प्रोत्साहित करेंगे जो खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में प्रवेश करना चाहते हैं। 'हम नए उद्यमों को सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आर्थिक सहायता और तकनीकी मार्गदर्शन प्रदान करेंगे,' उन्होंने कहा।

इस नवीनतम राजनीतिक विकास ने चिराग पासवान के नेतृत्व का एक नया अध्याय शुरू किया है।

अंजलि सोमवांस

लेखक के बारे में

अंजलि सोमवांस

मैं एक स्वतंत्र पत्रकार हूँ जो भारत में दैनिक समाचारों के बारे में लिखती हूँ। मुझे लेखन और रिपोर्टिंग में गहरी रुचि है। मेरा उद्देश लोगों तक सटीक और महत्वपूर्ण जानकारी पहुँचाना है। मैंने कई प्रमुख समाचार पत्रों और वेबसाइट्स के लिए काम किया है।

एक टिप्पणी लिखें

अभिलेखागार